Bansawali Kaise Banaye

Bansawali Kaise Banaye: वंशावली बनवाने के लिए अब लगेगा पंचायत स्तर पर कैंप, जानें क्या हैं इसका लाभ और कैसे करें आवेदन

Bansawali Kaise Banaye: बिहार राज्य में जमीन का रजिस्ट्री करने के लिए नियमों में सरकार की तरफ से बदलाव कर दिए गए हैं। बिहार में जारी नए नियम के अनुसार अगर आपका जमीन आपके दादा, परदादा या फिर आपके पिताजी के नाम पर है और उनकी मृत्यु हो चुकी है, तो ऐसे में आपको उसे जमीन पर अपना अधिकार साबित करना होगा। इसके लिए आपको वंशावली जैसे दस्तावेजों की आवश्यकता होगी। अगर आप भी वंशावली बनवाना चाहते हैं, तो अब आपको परेशान होने की आवश्यकता नहीं है।

इस पोस्ट के माध्यम से वंशावली कैसे बनाएं इसके लिए आप अपना आवेदन कैसे कर सकते हैं? इसकी जानकारी विस्तार पूर्वक बताने जा रहा हूं जिसके लिए आपको इस पोस्ट को ध्यानपूर्वक पूरा पढ़ना होगा। आप इसके लिए अपना आवेदन ऑफ़लाइन के माध्यम से कर सकते हैं, जिसकी पूरी प्रक्रिया में आपको इस पोस्ट में बताने जा रहा हूं। इसके लिए आपको नीचे दिए गए इस पोस्ट को शुरू से लेकर अंत तक पढ़ना होगा।

Bansawali Kaise Banaye
Bansawali Kaise Banaye

वंशावली कैसे बनाए

बिहार राज्य में ऐसे बहुत सारे व्यक्ति है जो अपने जमीन पर अपना अधिकार साबित करने के लिए वंशावली बनवाना चाहते हैं, लेकिन उन्हें यह पता नहीं है कि वह इसके लिए अपना आवेदन कैसे कर सकते हैं? वंशावली बनवाने के लिए उन्हें कहां जाना होगा तथा यह किसके द्वारा बनवाई जाती है, तो मैं आपको बता दूं कि आप वंशावली के लिए अपना आवेदन ऑफ़लाइन के माध्यम से कर सकते हैं। इसके लिए आप अपना आवेदन किस प्रकार कर सकते हैं? यह बनवाना क्यों अनिवार्य है तथा वंशावली बनवाने की क्या-क्या फायदे हैं, इसके बारे में जानकारी इस पोस्ट में बताई जा रही है जिसके लिए आपको नीचे दिए गए पोस्ट को पूरा पढ़ना होगा।

वंशावली किसे कहते हैं ?

सबसे पहले मैं आपको वंशावली दस्तावेज क्या होती है, इसके बारे में बताने जा रहा हूं। वंशावली एक पारिवारिक वृक्ष की तरह होता है। यह एक दस्तावेज होता है जिसमें आपके परिवार के सदस्यों की जानकारी दी जाती है। जैसे कि आपका परदादा कौन थे, उनके कितने बेटे थे, उनके सभी बेटों के नाम उनके बेटे की कितनी संतान थी। इस प्रकार से पीढ़ी दर पीढ़ी के बारे में इस वंशावली दस्तावेज में जानकारी दी जाती है। इसलिए अगर आप भी अपने दादा, परदादा या फिर पिता की संपत्ति पर अपना अधिकार पाना चाहते हैं, तो आपको इसके लिए वंशावली बनवाना एक महत्वपूर्ण दस्तावेज बन चुका है। आप वंशावली की दो प्रति आसानी से तैयार करवा सकते हैं।

वंशावली बनवाने के फायदे

वंशावली बनवाने के बहुत सारे फायदे होते हैं, इसके बारे में मैं आपको बताने जा रहा हूं। ऐसी स्थिति जहां आप अपने पैतृक संपत्ति पर अपना हिस्सा यह अधिकार पाना चाहते हैं, तो आपको इसके लिए वंशावली बनवाना अनिवार्य है क्योंकि बिना वंशावली की इस बात की जानकारी नहीं होती है कि आपके पूर्वज कौन है और आपका उनकी संपत्ति पर कितना अधिकार है। अगर हम सरल शब्दों में कहें तो ऐसी संपत्ति जिनके मालिक आना हक आपके दादा, परदादा या फिर आपके पिता के नाम पर है, तो उसे पर आपको कितना अधिकार मिलेगा इसकी पूरी जानकारी वंशावली में दी जाती है।

वंशावली कैसे बनाए New Update

वंशावली बनवाने को लेकर एक नई जानकारी सामने आई है। इसके अनुसार पारिवारिक वंशावली तैयार करने के लिए अब अंचल के जगह आपको पंचायत स्तर पर ही सिविल लगाया जाएगा। प्राप्त जानकारी के अनुसार मैं आपको बता दूं कि सभी जिले में सप्ताह में तीन दिन सिविल का आयोजन किया जाएगा। राजस्व एवं भूमि सुधार विभाग ने सभी डीएम को अपने-अपने जिले में मंगलवार, बुधवार और बृहस्पतिवार को मुख्यालय में प्रसार प्रचार कर सिविल आयोजन करवाने का निर्देश दिया है।

How To Apply For Bansawali?

  • अगर आप भी वंशावली दस्तावेज बनवाना चाहते हैं, तो आपको इसके लिए सबसे पहले फॉर्म को डाउनलोड करना होगा।
  • आपको नीचे दिए गए इंपॉर्टेंट क्षेत्र में जाकर क्लिक करना होगा, उसके बाद का डाउनलोड का लिंक मिलेगा जिस पर आपको क्लिक करना होगा।
  • उस पर क्लिक करने के बाद आपके सामने एक पीडीएफ खुलकर आ जाएगा।
  • यहां आपको इस पीडीएफ को डाउनलोड कर लेना होगा, इसके बाद आपको इस A4 साइज के पेपर में अच्छी तरह से प्रिंट कर निकलवा लेना होगा।
  • इसके बाद इसमें पूछी गई सभी जानकारी को सही-सही भरना होगा।
  • इसके बाद पंचायत कार्यालय में जाकर आवेदन फार्म के साथ नगद ₹10 कार्यालय में जमा करना होगा।
  • इसके बाद सरपंच के द्वारा वंशावली बनाकर दे दिया जाएगा।
  • दोबारा वंशावली निर्गत करने के लिए आवेदक को पंचायत सचिव के पास ₹100 शुल्क जमा करने होंगे।
  • पंचायत सचिव अपनी अनुशंसा संबंधित कागज से संतुष्ट होकर सील मोहर और तिथि के साथ ग्राम कचहरी को करेंगे।
  • अग्रसारित आवेदन की छाया प्रति पंचायत सचिव अपने कार्यालय में सुरक्षित रख लेंगे।

Important Links

For Form Download
Official Website

यह भी पढ़े 

Author photo
Publication date:
Author: Robin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *